Tuesday, 14 February 2017

Camera ka Bhoot - फ़ोटो में कैद प्रेत का आतंक

          ये वो दिन की बात है जब राकेश के पर फोटोग्राफर बनने का भूत सवार था। उसने अपने पापा से झगड़ा करके पैसे ले लिया और नया केमेरा खरीद लिया। उस समय में अपनी आस-पास दिखती हुई हररेख चीज और मनुष्य, प्राणी वगेरे की फ़ोटो खिचता रहता था और अपने आप को प्रोफेशनल फोटोग्राफर समज ने लगा। लेकिन मेरी हालात तब ख़राब हुई जब मेरे केमेरा में एक भयानक डराने वाला प्रेत कैद हुआ।
Horror Story - Camera ka Bhoot

          पहले तो मुझे लगा की ये सिर्फ black & white फ़ोटो है। लेकिन जब ध्यान से देखा तो मेरे रूवांटे खड़े हो गए क्योंकि उसमें मुझे कुछ आछि सी दो आँखे दिख रही थी और वो आँखे गुस्से से मेरे केमेरा के सामने देख रही थी। डर के कारन मैंने वो फ़ोटो को तुरंर ही delete कर दिया और केमेरा को कबट में रह दिया।


          करीबन रात को बजे के आस पास कबाटमे से धिरे धिरे आवाज सुनाने लगा। में बहुत ही डर गया और डरते डरते मेने कबाट का दरवाजा खोल तो देखा की केमेरा कवर मेंसे बहार गया था और केमेरे ने मेरे सामने लेन्स कर के फ़ोटो click कर दिया। ये एक बहुत ही डराने वाली घटना थी। में तुरंत ही भाग के अपने रुम से बहार निकल गया और घर के सारे सभ्यो को जगा दिया। ये पूरी घटना सुनके पापा मेरे रुम में गए और केमेरा check करने लगे लेकिन मेरा कोईभी फ़ोटो दिखाई नहीं दिया। पापा ने ये देख कर मुझे कहा की ये सिर्फ तेरा भ्र्म है। मुझे भी लगा की ये मेरा भ्र्म ही है।

          दूसरे दिन दोपहर मे में नदी के तट पे बैठ के केमेरा से फ़ोटो खींच रहा था। बाद मे फ़ोटो खींच लेने के बाद केमेरा मे फ़ोटो देख ने लगा उसमे मेने देखा की वो जो फ़ोटो मेने delete कर दिया था वही भयानक फ़ोटो मेरी memory में फिर से गया था। उसे देख कर में बहुत ही डर गया और तुरंत ही उसी फ़ोटो को फिर से delete कर दिया। जब मेने बाकी के फ़ोटो देखा तो मेरे पैर थदथड़ काँपने लगे। आप सोच भी नहीं पाउनंगे के उसमे क्या था?


          ये वही फ़ोटो था जिसके बारे मे मेने अपने पापा से बात की थी। और वही फ़ोटो मे मेरे पीछे लाल रंग की आँखे वाला प्रेत खड़ा था। इस time पे मेने वो फ़ोटो delete नहीं किया लेकिन इसके अलावा बाकि के सारे फ़ोटो delete कर दिए। और तुरंत ही केमेरा लेके सीधा पापा को दिखाने के लिए गया।

          लेकिन आश्चर्य की बात तो यह थी की जब मेने पापा को केमेरे की memory दिखाई तो वह पूरी तरह से खाली थी। उस दिन मेरे पापा मुझपे काफी गुस्सा हुए। और मुझे बोले की अगर तुजे ये केमेरा पसंद नहीं हे तो उसे फेंक दे या फिर बेच दे लेकिन ऐसी बेवकूफ वाली बाते लेकर मेरे पास मत आ।

          दुसरे दिन रात को फिर से मेरे साथ डर का आतंक शुरू हो गया। अब तो धीरे धीरे बंध कबट मेंसे फ़ोटो click की आवाज आने लगी। मुझे पता था की ये कोई मेरा भ्रम नहीं है। क्यूंकी में परलौलिक घटनाओ को नहीं मानने वाला एक संपूर्ण नास्तिक मानस हु।

          सुबह मेने हिम्मत करके केमेरा बहार निकाला और फिर से memory देख ने लगा। उसमे कोईभी भूत का फ़ोटो नहीं था लेकिन एक काली फ्रेम वाला फ़ोटो मिला जिसमे लिखा था की..... "मुजको कैद करने भूत की उसकी सजा...तुजे तेरी जान देनी पड़ेगी।"


          ये फ़ोटो देखकर मेरे तो हौंस ही उड़ गए। मेरी धड़कन एकदम से ही बढ़ गई। मुझे ये भी पता था की ये धमकी वाला फ़ोटो अगर किसीको दिखने के लिए भी जाउगा उससे पहले memory से delete हो जाएगा।

45000 Rs मे ख़रीदा हुआ केमेरा मेने 20000 Rs मे बेच दिया। मुझे नहीं पता था की आखिर किस तारीखे से वो भूत मेरे केमेरे मे कैद हो गया। लेकिन वो भूत यही समज रहा होगा की मेने उसे जानबुज के केमेरे मे कैद कर दिया। अब मुझे तो photography और केमेरे से डर लगने लगा की कंही वो केमेरे वाला भूत मुझे मार तो नहीं देगा?

Thursday, 29 December 2016

Popular Posts